: क्या होगा इस सिस्टम में गरीब इन्सान का? 

  लुधियाना: 8अगस्त 2014:(रेक्टरकथूरिया//पंजाब स्क्रीन): पति का देहांत हुआ तो ज़िन्दगी में अँधेरा छागया। एक एक कदम--एक एक दिन नयी से नयी चुनौती लेकर सामने आता पर उसने हिम्मत न हारी। उसने ठान लिया कि अपनी तीनों बच्चियों को उसने पिता का दुलार भी देना है और पढ़ा लिखा कर एक अच्छा इंसान भी बनाना है। इसके लिए सबसे पहले चाहिए था पैसा जो उसके पास नहीं था। उसने लुधियाना में शेरपुर की एक फैक्ट्री में काम शुरू किया। उसे दिन भर साइकल की एक मशीन पर बैठना पड़ता लेकिन मशीन वक़्त... ...  #Promote the Blog www.punjabscreen.blogspot.com 
Share to Promote this Blog